जानिए दुनिया के इन अजीबोगरीब गांव के बारे में जहां महिलाएं…

0
71
महिलाएं

लौंगीयरबैन लगभग 2000 की आबादी वाले शहर में जमा देने वाली ठंड होती है,जहां महिलाएं करती हैं कुछ ऐसा के आप दंग रह जायेंगे .यहां पर साल में चार महीने तक सूरज नहीं उगता है। यहां पर रहने वाले लोग या तो ज्यादातर बाहर से आए हुए टूरिस्ट होते हैं या तो फिर शोधकर्ता और वैज्ञानिक होते हैं।

ये भी पढ़ें :-ममता बनर्जी ने पीएम मोदी की योजना का कर दिया ये हाल, जानकर चौंक जायेंगे आप

यहां पर 24 घंटे तक रात रहती है। इसी वजह से यहां पर जमा देने वाली ठंड रहती है। और इसके चारों तरफ बर्फ ही बर्फ है। यहां पर ट्रांसपोर्ट भी बंद है। यहां पर आने जाने के लिए स्कूटर का इस्तेमाल किया जाता है।

ये भी पढ़ें :-पीएम मोदी ने दिया सेना को ये घातक हथियार, अब होगी नक्सलियों की तबाही

इस शहर में एक कब्रिस्तान भी है। जहां पिछले 70 सालों से कोई भी लाश नहीं दफनाई गई। इसके पीछे का जो कारण है वह यह है कि जमा देने वाली ठंड और बर्फ में रहने के कारण यह लाश जमीन में खराब नहीं होती, और ना ही जमीन में घुलती है।

ये भी पढ़ें :-किसने कहा मेरे कारण जिन्दा हैं पीएम नरेंद्र मोदी, जानकर चौंक जायेंगे आप

यहां पर वैज्ञानिकों ने एक डेड बॉडी पर जीका वायरस पाए उसके बाद इस शहर पर नो डेड बॉडी पॉलिसी लागू कर दी गई। यहां पर रहने वाले सामान्य निवासी अगर मरते हैं तो यहां पर नहीं दफनाए जाते, अगर कोई इंसान बीमार होता है या मरने की हालत में होता है तो उसे प्लेन से नॉर्वे के दूसरे हिस्सों में ले जाया जाता है। और यह शहर आज भी ना मरने के लिए जाना जाता है।

ये भी पढ़ें :-बॉम्बे हाईकोर्ट से साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को मिली जमानत, जानिए इस काण्ड के मुख्य बिंदु

नोइवा डी कोरडियो ब्राजील के इस कस्बे में 300 लड़कियों को नहीं मिल रहा है। करीब 600 महिलाओं इस गांव में रहती हैं। इनको अपने सपनों का राजकुमार का मिलना बहुत ही मुश्किल है।

ये भी पढ़ें :-जानिए कैसे सुकमा में नक्‍सलियों ने सीआरपीएफ की टुकड़ी पर किया हमला  

यह कस्बा करीब 100 सालों से बाहरी दुनिया से कटा हुआ है। ज्यादातर महिलाओं की उम्र 20 से 35 साल के बीच है। कस्बे  में रहने वाली नीलिमा फर्नांडिस ने बताया कि कस्बे में रहने वाले सभी मर्द या तो शादीशुदा हैं। या फिर उनके रिश्तेदार हैं।

ये भी पढ़ें :-इन आसान उपायों से होगी अक्षय तृतीया पर धन कर वर्षा

लड़कियां शादी तो करना चाहती है लेकिन इसके लिए मैं कस्बा नहीं छोड़ना चाहती है। वे चाहती हैं कि शादी के बाद लड़का उनके कस्बे में आ कर उनकी नियमों के अनुसार रहे।

ये भी पढ़ें :-बड़ा रहस्‍य : भगवान कृष्‍ण ने नहीं, इन्‍होंने बचाई थी द्रौपदी की लाज  

इस कस्बे में खेती-किसानी से लेकर सभी काम महिलाएं ही करती हैं। ज्यादातर महिलाओं के प्रति और 18 साल से बड़े बेटे काम के लिए कस्बे से बाहर ही रहते हैं। इसीलिए इस कस्बेे की महिलाएं और लड़कियां अविवाहित हैं।

ये भी पढ़ें :-सेना ने नदी पर किया पल भर में ऐसा हैरतंगेज काम, देखकर दंग रह जायेंगे आप देखें वीडियो   

हुवाक्शीविलेज

आलीशान बंगला महंगी अच्छी शिक्षा हर तरह की सुख सुविधाएं सपना होता है। लेकिन चीन हुवाक्शी़ गांव में रहने वाले लोगों के लिए कोई सपना नहीं हकीकत है। यह गांव चीन जींगयान शहर के पास में है। और इसको पूरे देश में सबसे अमीर गांव कहा जाता है।

ये भी पढ़ें :-इस अश्‍लील वीडियो ने मचाया धमाल देखने वाले हो गये दंग

इस गांव में रहने वाले सभी 2000 लोगों का सालाना आमदनी 100000 यानी 80 लाख इंडियन रुपीज है। इस गांव को दुनिया का सबसे अमीर गांव माना जाता है। इस गांव में एयरपोर्ट हेलीपैड भी है। वही इस गांव में 328 मीटर ऊंची होटल भी है।

ये भी पढ़ें :-यहाँ पिता करता है शादी से पहले बेटी के साथ ये गन्दा काम, देखें वीडियो

इस गांव में पहले दूसरे गांव की तरह गरीबी भी थी लेकिन समय के अनुसार इस गांव में कृषि उद्योग बढ़ता गया इस गांव के लोग अमीर बनते चले गये। यह गांव चीन का सबसे बड़ा कृषि उत्पाद उत्पन्न करने वाला गांव माना जाता है।

ये भी पढ़ें :यहां पुरुषों से जबरन महिलाएं बनाती हैं संबंध, खुद रहती हैं बिना कपड़ों के

इस गांव में कोई भी इंसान कोई भी परिवार गरीब नहीं है। हर परिवार के अंदर एक अच्छी शिक्षा और हर तरीके की सुख सुविधाएं उपलब्ध हैं।

ये भी पढ़ें :हवस में अंधे आदमी ने अपनी ही माँ,बहन और बेटी से किया गन्दा काम, देखें वीडियो

loading...