जानिए पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले की जिंदगी से जुडे कुछ राज

0
229
अनिल कुंबले

नई दिल्‍ली। भारतीय क्रिकेट मशहूर बालर रह चुके हैं अनिल कुंबले आज अपना 47वां जन्मदिन मना रहे हैं। अनिल कुंबले भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच भी रह चुके हैं। विराट कोहली से अनबन होने के कारण उन्होंने यह पद छोड़ दिया था।

यह भी पढें:- इस महिला टिचर ने किसी को नहीं छोड़ा, स्‍कूल में सबसे…

अनिल कुंबले उन चुनिंदा लोगों में शामिल हैं जिन्होंने शादीशुदा महिला के साथ शादी की उनकी पत्नी का नाम चेतना है। अनिल कुंबले शादी करने से पहले चेतना की शादी हो चुकी थी। पहली शादी से चेतना को एक बेटी भी है।

आइए आज हम आपको बताते हैं अनिल कुंबले के लव स्टोरी की हकीकत दरअसल चेतना की शादीशुदा जिंदगी अच्छी नहीं चल रही थी। उनके पहले पति कुमार जागीदार बिजनेसमैन थे अनबन होने के कारण चेतना उनसे अलग रहने लगी थी इसी दौरान उन्होंने काम करना शुरु कर दिया।

यह भी पढें:- इस स्‍कूल में लड़कियों के ब्रा पहनने पर है रोक, जानें…

चेतना एक ट्रैवेल एजेंसी में काम करने लगीं यहीं उनकी मुलाकात मशहूर क्रिकेटर अनिल कुंबले से हुई और यहीं से उनकी लव स्‍टोरी चालू हुई। चेतना की पिछली जिंदगी के बारे में जब कुंबले को पता चला तो उन्होंने उनका पूरा साथ दिया और चेतना का 1 जुलाई 1999 को साथ-साथ रहने की कसम खा ली। अप्रैल में चेतना का तलाक हुआ था अब इस जोड़ी के दो बच्चे हैं एक बेटा और एक बेटी है।

यह भी पढें:- VIDEO VIRAL : राधे मां ने दिल्‍ली के थाने में किया…

लेकिन उनके जीवन के कुछ वाकये हैं, जिनका ज़िक्र करना ज़रूरी हो जाता है। अनिल कुंबले को एंटिगा में जबड़े पर गेंद लगी थी, इसके बावजूद वो खेलने के लिए मैदान पर आए थे। उस वक्त उनका जबड़ा टूट गया था। एक भारतीय डॉक्टर उस मैच के दौरान वहां स्टेडियम में मौजूद थे और मैच देख रहे थे। उन्हें बड़ी मुश्किल से ढूंढा गया। उन्होंने कुंबले के जबड़े को एक पट्टी से बांध दिया था। सबको लग रहा था कि कुंबले आराम करेंगे।

यह भी पढें:- सीएम योगी का बड़ा वार : अब यूपी में मदरसों की…

लेकिन यह कुंबले का जज़्बा ही था कि वे गेंदबाज़ी करने के लिए मैदान में उतर गए। टूटे हुए जबड़े के साथ गेंदबाज़ी करते हुए उन्होंने ब्रायन लारा का विकेट लिया। वाकई में यह एक यादगार लम्हा था। त्रिनिदाद एंड टोबैगो की राजधानी पोर्ट ऑफ स्पेन में भारत का मैच हो रहा था। उस वक्त जॉन राइट भारतीय क्रिकेट टीम के कोच और सौरव गांगुली कप्तान थे।

यह भी पढें:- किम जोंग की धमकी अगर दिया अमेरिका का साथ तो…

कुंबले को पहले कहा गया कि वो मैच में खेल रहे हैं, फिर कहा गया कि वो नहीं खेल रहे हैं, फिर दोबारा से कहा गया कि खेल रहे हैं। वो जिंक का पेंट लगाकर मैदान का चक्कर काट रहे थे। आख़िरकार जब टीम की घोषणा हुई तो उसमें कुंबले का नाम नहीं था। एक सीनियर खिलाड़ी के साथ इस तरह का बर्ताव हुआ, लेकिन जब भारत टेस्ट मैच जीत गया तो सबसे अधिक खुश जो खिलाड़ी था वो थे अनिल कुंबले। उस वक्त वो अपने कैमरे से पूरी टीम को खुशी मनाते हुए फोटो खींच रहे थे।