चीन के इस महादैत्‍य से नहीं बचेगा दुनिया का कोई भी देश

0
541
दस परमाणु बम

बीजिंग। चीन सन 2018 में अगली पीढ़ी की लंबी दूरी तक मार करने वाली अत्याधुनिक मिसाइल को अपनी सेना में शामिल करेगा। यह मिसाइल मैक 10 (करीब 12 हजार किलोमीटर प्रति घंटा) की रफ्तार से जाकर 12,000 किलोमीटर की दूरी तक मार करने में सक्षम होगी। डोंगफेंग-10 नाम की यह मिसाइल एक साथ दस परमाणु बम ले जाने में सक्षम होगी, जो अलग-अलग ठिकानों पर गिराए जा सकेंगे।

यह भी पढें:- सोनिया गाँधी ने पांच साल तक किया वेश्या का काम देखें…

चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित खबर के मुताबिक 2012 में मिसाइल बनाने की घोषणा से अभी तक उसके आठ परीक्षण हो चुके हैं, जिनमें ज्यादातर सफल रहे हैं। इसलिए अब इसे 2018 के मध्य तक पीपुल्स लिबरेशन आर्मी में शामिल किए जाने की संभावना बन गई है। अखबार ने यह बात हथियारों के मामले में सेना के सलाहकार शू गुआंग्यू के हवाले से कही है।

यह भी पढें:- संभोग वशीकरण : कामदेव के इस मंत्र से मनचाही औरत को…

डोंगफेंग-41 मिसाइल त्रि-स्तरीय ठोस ईंधन पर आधारित है। यह चीन की धरती से दुनिया के किसी भी देश को निशाना बना सकेगी। साउथ चाइना मॉर्निग पोस्ट अखबार के मुताबिक चीन ने नवंबर की शुरुआत में इस नई बैलेस्टिक मिसाइल का परीक्षण कर लिया है लेकिन इसके बारे में जानकारी सार्वजनिक नहीं की। अमेरिकी सैटेलाइट टैकिंग सिस्टम ने अप्रैल 2016 में मिसाइल के सातवें परीक्षण के सुबूत पकड़े थे और जानकारी सार्वजनिक की थी।

यह भी पढें:- इस खूबसूरत लड़की ने अनोखी अदाओं से पानी में किया शिकार

जबकि फीनिक्स टीवी के टिप्पणीकार और चीनी सेना के तोपखाना दस्ते में रहे सोंग जोंगपिंग का दावा है कि डोंगफेंग-41 को चीनी सेना में शामिल किया जा चुका है। इसी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए ताजा परीक्षण किए जा रहे हैं।

यह भी पढें:- शर्मनाक : भारत की ऐसी जगह जहां मात्र दस रूपए में…

रूसी रक्षा विशेषज्ञों का मानना है कि नई मिसाइल का निशाना मुख्य रूप से अमेरिकी शहर और यूरोप हैं। यह चीन की बड़ी प्रतिरोधक क्षमता बनेगी। इसके जरिये चीन अमेरिका पर रणनीतिक दबाव बनाने में कामयाब होगा।

यह भी पढें:- VIRAL : लड़की मांगती रही रहम की भीख, लेकिन उन्‍होंने एक…