असाध्‍य रोगों के निवारण के लिए अपनायें ज्योतिष के कुछ कारगर उपाय

0
100
डायबिटीज निवारण

मधुमेह या डायबिटीज निवारण के लिए वास्तु नियम–वास्तु शास्त्र प्राचीन वैज्ञानिक जीवन शैली है वास्तु विज्ञान सम्मत तो है ही साथ ही वास्तु का सम्बन्ध ग्रह नक्षत्रों एवम धर्म से भी है ग्रहों के अशुभ होने तथा वास्तु दोष विद्यमान होने से व्यक्ति को बहुत भयंकर कष्टों का सामना करना पड़ता है। वास्तु शास्त्र अनुसार पंच तत्वों पृथ्वी, जल, अग्नि, आकाश और वायु तथा वास्तु के आठ कोण दिशाए एवम ब्रह्म स्थल केन्द्र को संतुलित करना अति आवश्यक होता है जिससे जीवन हमारा एवं परिवार सुखमय रह सके।

यह भी पढें:- मेहनत करने पर भी न बन रहा हो काम तो करें…

वास्तु शास्त्र में बिलकुल स्पष्ट है कि घर/भवन का दक्षिण-पश्चिम भाग अर्थात नैऋत्य कोण ही इस रोग का जनक बनता है। दक्षिण-पश्चिम कोण में कुआँ, जल बोरिंग या भूमिगत पानी का स्थान मधुमेह बढाता है। दक्षिण-पश्चिम कोण में हरियाली बगीचा या छोटे छोटे पोधे भी शुगर का कारण है। घर का दक्षिण-पश्चिम कोना बड़ा हुआ है तब भी शुगर आक्रमण करेगी। यदि दक्षिण-पश्चिम का कोना घर में सबसे छोटा या सिकुड भी हुआ है तो समझो मधुमेह का द्वार खुल गया।

यह भी पढें:- आपके घर में है तुलसी का पौधा तो जानिए इसके चमात्‍कारिक…

दक्षिण-पश्चिम भाग घर या वन की ऊँचाई से सबसे नीचा है मधुमेह बढेगी। इसलिए यह भाग सबसे ऊँचा रखे। दक्षिण-पश्चिम भाग में सीवर का गड्ढा होना भी शुगर को निमंत्रण देना है।

ब्रह्म स्थान अर्थात घर का मध्य भाग भारी हो तथा घर के मध्य में अधिक लोहे का प्रयोग हो या ब्रह्म भाग से जीना सीडीयां ऊपर कि और जा रही हो तो समझ ले कि मधुमेह का घर में आगमन होने जा रहा हें अर्थात दक्षिण-पश्चिम भाग यदि आपने सुधार लिया तो काफी हद तक आप असाध्य रोगों से मुक्त हो जायेगे कुछ सावधानियां और करे जैसे कि

अपने बेडरूम में कभी भी भूल कर भी खाना ना खाए। अपने बेडरूम में जूते चप्पल नए या पुराने बिलकुल भी ना रखे।मिटटी के घड़े का पानी का इस्तेमाल करे तथा घडे में प्रतिदिन सात तुलसी के पत्ते डाल कर उसे प्रयोग करे।

यह भी पढें:- घातक है ग्रहों के योग करें उपाय, नहीं तो होगा भारी…

दिन में एक बार अपनी माता के हाथ का बना हुआ खाना अवश्य खाए। अपने पिता को तथा जो घर का मुखिया हो उसे पूर्ण सम्मान दें। प्रत्येक मंगलवार को अपने मित्रों को मिष्ठान जरूर दें।

रविवार भगवान सूर्य को जल दे कर यदि बन्दरों को गुड खिलाये तो आप स्वयं अनुभव करेंगे की मधुमेह शुगर कितनी जल्दी जा रही है। ईशानकोण से लोहे की सारी वस्तुए हटा ले।

इन सब के करने से आप मधुमेह मुक्त हो सकते है। वृहस्पति देव की हल्दी की एक गाँठ लेकर एक चम्मच शहद में सिलपत्थर में घिस कर सुबह खाली पेट पीने से मधुमेह से मुक्त हो सकते है।

loading...